Saturday, June 11, 2016

सीमा को न्याय मिले न मिले लेकिन आरोपी दबंग है यह समाजवाद ने दिखला दिया !

‪#‎ActionAdd‬ ‪#‎SSK‬ ‪#‎UPVANLucknow‬ ‪#‎SeemaRapeCaseBanda‬
‪#‎Justiceforwomen‬ 

' पांच महीने से लापता राजा भैया यादव का सिपहसलाकार कौन है '  

बाँदा 10 जून - बीते 25 फरवरी 2016 को बाँदा के अतर्रा थाने में देर शाम बसपा प्रत्याशी मधुसुदन कुशवाहा,गयाचरण दिनकर और स्थानीय लोगो के सहयोग से पीड़िता सीमा विश्वकर्मा निवासी ग्राम अनथुआ ने आरोपी राजा भैया यादव पर बंधुआ मजूदर बनाकर एक वर्ष तक यौन शोषण करने का मुकदमा दर्ज करवाया था ! इसके बाद न्याय की आस में सड़ते सिस्टम के आगे- पीछे उसने अब तक कई बार चक्कर लगाये,गिडगिडाने के बाद और उच्च न्यायलय के आदेश बावजूद स्थानीय पुलिस महकमा उसको गिरफ्तार नही कर सका ! या यूँ कहे करना नही चाहता है ! धन में और सत्तासीन यादव सरकार में बड़ा दम है भाई ! 
तब से आज तक फरार चल रहे आरोपी को किस भूमिगत तहखाने में रखा गया है यह सिस्टम ही जानता है ! लेकिन वो फंडिंग एजेंसी एक्शन एड जो लगातार कई वर्ष से इस आरोपी की संस्था ( विद्याधाम समिति,अतर्रा) की पोषक रही है ने गत 22 मार्च को पांच सदस्यों की एक जाँच समिति बनाई थी ! उसमे सपा के नेता/ अधिवक्ता / आरोपी की संस्था में कार्यकारिणी सलाहकार द्वारिकेश मंडेला को भी पक्ष रखने को रखा गया था ! 17 अप्रैल को ( तस्वीर में मौजूद एक्शन एड की जाँच टीम,आरोपी खुद ) ने आरोपी की संस्था में आकर उसकी मौजूदगी में बाँदा के अन्य बड़े संस्था संचालक मसलन गया प्रसाद गोपाल,चित्रकूट / अन्य के समक्ष पड़ताल की और अपनी रिपोर्ट रखी थी ! आरोपी बैठक में था ये बात भी पीड़िता को नही बतलाई गई ! पीड़िता के अनुसार जाँच में आरोपी की दोषी पाया गया है लेकिन जाँच रिपोर्ट की कापी पीड़िता के मांगने के बाद भी नही प्रदान की गई है ! जबकि उसने मेल / निवेदन किया टीम की मनीषा,खालिद चौधरी और राजन जी से ! मगर पिछली बार की तरह इस मर्तबा भी सब चुप है ! इनका दावा है कि यह सीमा को न्याय दिलाएंगे मगर बिना रिपोर्ट दिखालये !!!
                                              


जाहिर है एक साधारण सा आदमी इतने बड़े रुतबे तक बिना एक्शन एड के नही पहुंचा है !...तब से कई बार सीमा के गाँव जाकर पावर - रुपयों ( डेढ़ लाख ) सुलह करने की हिदायत दी गई ! आज 10 जून को लखनऊ के सहभागी शिक्षण केंद्र की इकाई ' उपवन ' ( उत्तर प्रदेश वालेंन्ट्री एक्शन नेटवर्क ) के सदस्य सीमा के गाँव गए राजा भैया से मिलने के बाद ! उन्होंने सीमा से मिलने की इक्षा जताई है ताकि सुलह किया जा सके ! उनके साथ आरोपी का वर्कर सुरेश कुशवाहा भी था ! गौरतलब है 'उपवन' के अध्यक्ष बाँदा के त्रिपाठी जी है और गोपाल भाई,आरोपी सदस्य भी ! या ये कहे चमड़ी का पेशा करके नाम और दाम कमाने वाले बुंदेलखंड के लगभग सभी बड़े एनजीओ इसके सदस्य है ! .....क्या एक पिता के साए से वंचित सीमा को दबाने का कारनामा वैसे ही किया जाता रहेगा यथा मुझे फर्जी दुराचार केस में उलझा कर 52 साल से अधिक महिला गुडिया का शिकार बनवाना ! ? देश का न्याययिक सिस्टम कितना बदबूदार है यह केस उसकी जिंदा कहानी है ! उच्च नायालय के स्टे ख़ारिज करने / कार्यवाही के आदेश करने को भी घुटने में रखे सरकारी अमला कैसा न्याय करेगा मुझे पुनः बतलाने की आवश्यकता नही है ! दहशत में जी रही सीमा को भगवान ही बचा सकता है सामाजिक दबगों के अत्याचार से !

0 Comments:

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

Links to this post:

Create a Link

<< Home