Thursday, January 21, 2016

'' बुंदेलखंड में राहुल गाँधी डमरू बजाने आ रहे '' !

‪#‎RahulgandhicominginbundelkhanddistrictMahobaregion‬
‪#‎Droughtbundelkhandfarmer‬ ‪#‎PMModi‬ ‪#‎UPCM‬ 
21 जनवरी 2015 जारी-
सभी तस्वीरे फाइल फोटो ( क्रमशः - किसान अच्छेलाल रैदास निवासी गाँव पडुई जहाँ राहुल गाँधी गत बार गए थे,विधायक विवेक सिंह के साथ बाँदा रैली में मई 2011 में राहुल गाँधी और बाँदा मंडल आयुक्त एम. वेकटेश्वर लू ) - 

7266 करोड़ के विशेष बुंदेलखंड पैकेज को क्यों डकार गए गाँधी जी ?डेढ़ साल में भाजपा सरकार नही करवा सकी सीबीआई जाँच !सूबे की समाजवादी सरकार और केंद्र सरकार के लिए बुंदेलखंड वोट मंडी !राजनीतिक दल किसान आत्महत्या की सेज में सेंक रहे अपनी संवेदना !

बाँदा / महोबा - कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष / पार्टी के युवा सम्राट राहुल गाँधी एक बार फिर बुंदेलखंड के महोबा आ रहे है ! प्रदेश की कांग्रेस कैबनेट, साल भर से लापता स्थानीय विधायक विवेक सिंह सदर बाँदा,राष्ट्रीय प्रवक्ता रीता बहुगुणा, दलजीत सिंह- तिंदवारी विधायक सहित अन्य नेता गाँधीवादी प्रवचन के साथ चित्रकूट मंडल में जम चुके है ! जिला महोबा में पवा चौराहे से लाड़पुर तक राहुल गाँधी पदयात्रा करने जा रहे है ! पदयात्रा की वजह से हलके के नेता अंजान से है उनका कहना है कि ये इलाका छतरपुर की सीमा से लगा है ! यहाँ खेत बोये नही गए है यही कारण है राहुल की दिलचस्पी बाँदा की बनिस्बत महोबा है ! सदर विधायक बाँदा के विवेक सिंह तीन साल से गुमशुदा रहने के बाद अब राहुल गाँधी की अगुआई में मीडिया परेड के साथ मुस्तैद है ! उन्हें जीएसटी और बुंदेलखंड का सूखा सालने लगा है ! वे कहते है यहाँ बोरिंग,बिजली कमी और किसान आत्महत्या का दौर है ! मगर जनाब आज तक सड़क में क्यों नही आये ये अदद सवाल है ? तब जब इनकी विधायक निधि बीस से तीस % में एडवांस बेच दी जाती है !...आजकल विवेक सिंह की युवा मंडली विधायक दलजीत सिंह के साथ है क्योकि शहद विवेक सिंह में चूसा जा चुका है ! ...डूबती नांव में कौन सवार होगा ? चित्रकूट मंडल में मौसम ने ठण्ड की दस्तक बढा दी है ऐसे में राहुल का ये दौरा सियासी ताप बढ़ाएगा !



राहुल गाँधी से बुंदेलखंड के बेहाल किसानो यक्ष प्रश्न है कि बाँदा में बुंदेलखंड पैकेज से बनी चौधरी चरण सिंह रसिन बांध परियोजना ( कुल लागत 7635.80 लाख रूपये ) में किसान को आज तक पानी क्यों नही मिला ? बुंदेलखंड को रेगिस्तान बनाने वाली केन - बेतवा नदी गठजोड़ का आपने विपक्ष में रहकर डेढ़ साल से विरोध क्यों नही किया तब जब आपके पर्यावरण मंत्री जयराम रमेश ने इस पर एनओसी नही दिया था ? बुंदेलखंड पैकेज से बने डैम,कुँओं में पानी क्यों नही है ? पैकेज से वर्ष 2010 में बकरी पालन योजना साढ़े चार करोड़ में आई 11,890 बकरी कहाँ लापता हो गई है जो आजीवका के लिए थी ? साथ ही 31 मार्च 2015 को समाप्त बुन्देलखंड पैकेज का आवंटित हुआ बुंदेलखंड जल-प्रबंधन का 2940 करोड़ रुपया,जल स्रोत के लिए 1762 करोड़,कृषि के लिए 2050 करोड़,वन - पर्यावरण के लिए 314 करोड़ और पशुपालन - डेयरी के लिए आया 200 करोड़ रुपया बुंदेलखंड की तस्वीर क्यों नही बदल सका ? 
सात जिलों में सूखे,पानी का संकट किसान के लिए आफत है ऐसे में देश की मोदी सरकार आपकी सरकार को डेढ़ साल से सीबीआई से क्यों बचा रही है ? आपने और आपकी माताजी ने आज तक कितना दान बुंदेलखंड,विदर्भ या मराठवाड़ा में किसान आत्महत्या कर रहे परिवार को दिया है ? बीते एक दशक में 62 लाख बुन्देलखंडी का यहाँ से पलायन करना और 4 हजार से ऊपर किसान की मौतें आपसे ये सवाल कर रही है ? लोकतंत्र में किससे पूछकर आप सारे नेता अपना वेतन बढ़ा लेते है जब किसान खेत में फांसी लगा लेता हो !
ये तमाम सवाल यहाँ का भूखा किसान पूछ रहा है जिसको योगेन्द्र यादव सरीखे सोशल एजेंट कथित सर्वे में घास की रोटी खिला के चले जाते है ! अगर उत्तर नही है तो बुंदेलखंड का किसान पैरोकार,प्रवास सोसाइटी और भारतीय किसान यूनियन(भानु ) के बुंदेलखंड प्रवक्ता के रूप में मै आपका बहिस्कार करता हूँ ! - आशीष सागर,बुंदेलखंड से !

0 Comments:

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

Links to this post:

Create a Link

<< Home